भारत-अमेरिकी साझेदारी वास्तव में वैश्विक हित के लिए एक ताकत 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत-अमेरिका  के मध्य ‘2+2’ वार्ता की मेजबानी की

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को अमेरिका के दो प्रमुख मंत्रियों से मुलाकात की। भारत ने दोनों देशों के बीच ‘2+2’ वार्ता की मेजबानी की, जिसमें दोनों देशों के वरिष्ठ नेता भी शामिल हुए। बाद में  मोदी ने भारत-अमेरिका साझेदारी को वैश्विक भलाई के लिए एक ताकत बताया।

प्रधानमंत्री मोदी ने आज दिन में नयी दिल्ली में अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन और विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन से मुलाकात की। प्रधानमंत्री मोदी ने एक्स पर ट्वीट किया कि “रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन और विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन से मिलकर खुश हूं। ‘2+2’ प्रारूप भारत-अमेरिकी व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को और ज्यादा मजबूत करने का एक महत्वपूर्ण साधन है।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों देश लोकतंत्र, बहुलवाद और कानून के शासन में साझा विश्वास रखते है जो विभिन्न क्षेत्रों में हमारे परस्पर लाभकारी सहयोग को रेखांकित करता है। उन्होंने कहा कि भारत-अमेरिकी साझेदारी वास्तव में वैश्विक हित के लिए एक ताकत है।

इस बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर भी मौजूद थे। शुक्रवार को भारत ने ‘2+2’ वार्ता की मेजबानी की, जिसमें राजनाथ सिंह, श्री एस जयशंकर, श्री ऑस्टिन और श्री ब्लिंकन ने भारत-अमेरिका की वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को आगे बढ़ाने के लिए व्यापक विचार-विमर्श किया।

वार्ता समाप्त होने के बाद जयशंकर ने कहा कि हमारे एजेंडे में हमारी रणनीतिक साझेदारी को आगे बढ़ाना शामिल है, जिसमें हमारे रक्षा संबंधों को आगे बढ़ाना, अंतरिक्ष एवं प्रौद्योगिकी में आगे बढ़ना, भविष्य में लॉजिस्टिक सहयोग और दोनों देशों के लोगों के बीच संपर्क शामिल है।

 जयशंकर ने एक सोशल मीडिया पोस्ट में कहा, “हिंद-प्रशांत, दक्षिण एशिया, पश्चिम एशिया और यूक्रेन संघर्ष पर भी विचारों का आदान-प्रदान किया। बहुपक्षीय क्षेत्र में हमने सहयोग के लिए अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि की और वैश्विक दक्षिण को शामिल किया।”

वार्ता के बाद जारी एक संयुक्त बयान में कहा गया कि विश्वास और आपसी समझ के आधार पर भारत-अमेरिकी संबंधों को आगे बढ़ाने की दिशा में पर्याप्त प्रगति हुई है। बयान में कहा गया, “प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रपति जो बिडेन की जून 2023 और सितंबर 2023 की यात्राओं को आगे बढ़ाते हुए मंत्रियों ने अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा सुनिश्चित करने में भारत-अमेरिकी व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी के महत्व की फिर से पुष्टि की है।”

बयान में कहा गया कि मंत्रियों ने क्वाड जैसे तंत्र के माध्यम से मुक्त, खुले और समावेशी हिंद-प्रशांत की रक्षा के लिए अपनी मजबूत प्रतिबद्धता को भी रेखांकित किया। मंत्रियों ने हिंद-प्रशांत, मध्य पूर्व और यूक्रेन सहित अन्य क्षेत्रों में हो रहे विकास पर भी चर्चा की। मंत्रियों ने यूक्रेन में युद्ध और इसके दुखद मानवीय परिणामों पर गहरी चिंता व्यक्त की।

इजरायल के खिलाफ हमास द्वारा किए गए आतंकवादी हमलों को भयावह बताते हुए, मंत्रियों ने दोहराया कि अमेरिका और भारत आतंकवाद के खिलाफ इजरायल के साथ खड़े हैं और नागरिकों की सुरक्षा के लिए अंतर्राष्ट्रीय मानवीय कानून का पालन करने का आह्वान किया। मंत्रियों ने शेष सभी बंधकों की तत्काल रिहाई की मांग की। मंत्रियों ने गाजा में फिलिस्तीनी नागरिकों की तत्काल आवश्यकतओं को पूरा करने के लिए इस क्षेत्र में भागीदारों के साथ समन्वय जारी रखने की प्रतिबद्धता व्यक्त की।

New Delhi, Prime Minister Narendra Modi , 2+2 talks  India-US partnership ,Prime Minister Modi , US Defense Secretary, Lloyd Austin , Secretary of State, Antony Blinken ,New Delhi today,Prime Minister Narendra Modi,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here