लंपी वायरस से निपटने को नैनीताल में तैनात होगी अतिरिक्त टीम

मंत्री सौरभ बहुगुणा ने समीक्षा बैठक में दिए अफसरों को निर्देश

शाह टाइम्स ब्यूरो

देहरादून। राज्य में पशुओं को लंपी वायरस (lumpy virus) बीमारी से बचाने में काफी हद तक नियंत्रण किया जा रहा है लेकिन वर्तमान में अन्य जिलों के मुकाबले नैनीताल जनपद में इस रोग के अधिक मामले हैं। जिसको देखते हुए पशुपालन मंत्री सौरभ बहुगुणा (Saurabh Bahuguna) ने उधमसिंह नगर (Udham Singh Nagar) जिले से पशु चिकित्सकों की टीम के कुछ सदस्यों को नैनीताल स्थानांतरित करने के निर्देश दिए हैं। गौरतलब है कि विगत वर्ष, मंत्री सौरभ बहुगुणा (Saurabh Bahuguna) के निर्देशन में पशुपालन विभाग (Department of Animal Husbandry) ने पशुओं के टीकाकरण में कीर्तिमान स्थापित किया था, जिससे लंपी कई पशुओं को समय से बचाया जा सका था।

दैनिक शाह टाइम्स के ई-पेपर पढने के लिए लिंक पर क्लिक करें

देहरादून में सोमवार को उत्तराखंड के पशुपालन मंत्री सौरभ बहुगुणा (Saurabh Bahuguna) ने विभाग के देहरादून से सहित अन्य जिलों के अधिकारियों व सीईओ के साथ लंपी त्वचा रोग की रोकथाम और इससे निपटने की तैयारी को लेकर एक समीक्षा बैठक की। बैठक में मुख्य रूप से कैबिनेट मंत्री ने टीकाकरण के संबंध में जरूरी निर्देश दिए। मंत्री सौरभ बहुगुणा ने कहा कि लंपी वायरस के संक्रमण को पूरी तरह समाप्त करना है, इसके लिए विभाग पूरी तरह से तैयार रहे। उन्होने अब तक के सार्थक प्रयासों पर विभागीय अधिकारियों की सराहना भी की।

बता दें कि लम्पी स्किन डिजीज को ‘गांठदार त्वचा रोग वायरस’ भी कहा जाता है। यह एक संक्रामक बीमारी है, जो एक पशु से दूसरे पशु को होती है। संक्रमित पशु को बुखार आना, वजन में कमी, आंखों से पानी, लार बहना, शरीर पर दाने निकलना, दूध कम देना, भूख न लगना, इसके मुख्य लक्षण हैं। बैठक में प्रमुख रूप से विभागीय सचिव बीआर पुरुषोत्तम, निदेशक बीसी कर्नाटक उपस्थित रहे।

#ShahTimes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here