सोशल मीडिया में राष्ट्र विरोधी पोस्ट डालने वालों पर कार्रवाई नहीं होने पर एडीजी खफा

आईजी गढ़वाल रेंज को पत्र लिखकर जताई नाराजगी

182 में से मात्र दो के खिलाफ मुकदमा करवाया गया दर्ज

फेक न्यूज और वीडियों पर त्वरित प्रभावी कार्रवाई करे कप्तान

देहरादून/मयूर गुप्ता( Shah Times) । सोशल मीडिया प्लेट फार्म पर भडकाऊ भाषण पोस्ट करने और राष्ट्र विरोधी, साम्प्रदायिक एवं फेक न्यूज और वीडियों डालने वालों के खिलाफ कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं किए जाने और अभियोग पंजीकृत नहीं किए जाने से अपर पुलिस महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यवस्था खफा हो गए। 

एडीजी एलओ ने पुलिस महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र को पत्र लिखकर रेंज के खुफिया विभाग द्वारा इस तरह कर प्रचार-प्रसार करने वाले सोशल मीडियाकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं करवाने खुफिया विभाग के अधिकारियों पर नाराजगी व्यक्त की है।

अपर पुलिस महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यवस्था ए.पी.अनशुमन ने 15 मार्च को पुलिस महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र करन सिंह नगन्याल को पत्र के पत्रांक संख्या डीजी-पांच-113/2023 लिखते हुए अवगत करवाया कि सोशल मीड़िया प्लेटफार्म पर प्रसारित राष्ट्र विरोधी, साम्प्रदायिक एवं फेकन्यूज और वीडियों पर रेंज के सभी जनपदों में जो कार्रवाई की गई वह काफी नहीं है। अपर पुलिस महानिदेशक ने रेंज के सभी जनपदों द्वारा फेक न्यूज सोशल मीडिया पर प्रसारित करने वालो के खिलाफ की गई गई कार्रवाई में जो खामियां परिलक्षित हुई उस पर कार्रवाई करने के आदेश दिए।

एडीजी एलओ के पत्र के बाद आईजी गढ़वाल रेंज ने भी परिक्षेत्र के सभी जनपदों के एसएसपी और एसपी का एडीजी के पत्र का हवाला देते हुए 16 मार्च को एक पत्र लिखा जिसका पत्रांक संख्या सीओजी/मी0सैल/2024-टी-21/91 है में उल्लेख किया कि जनपद चमोली में शांति एवं कानून व्यवस्था को प्रभावित करने वाले सोशल मीडिया पर करीब 182 पोस्ट डाली गई। आईजी ने अपने पत्र में इस बात का भी उल्लेख किया कि जनपद चमोली की खुफिया विभाग एलआईयू द्वारा मात्र दो पोस्टों के संबंध में काउंसलिंग की गई।

आईजी ने अपने पत्र में इस बात का उल्लेख किया कि जनपद चमोली में 180 पोस्टों पर कार्रवाई किया जाना खुफिया विभाग ने अंकित किया है। उन्होंने इस बात पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की कि जनपद चमोली पुलिस द्वारा थाना स्तर पर काउंसलिंग, निरोधात्मक कार्रवाई, गु्रप काउंसलिंग आदि पर किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की गई। उन्होंने परिक्षेत्र के किसी भी जनपद द्वारा किसी भी पोस्ट खण्डन और निरोधात्मक कार्रवाई नहीं की गई।

एडीजी के पत्र के बाद आईजी द्वारा परिक्षेत्र के सभी एसएसपी और एसपी को लिखे गए पत्र में इस बात को प्रमुख्ता से उजागर किया गया कि परिक्षेत्र में शांति एवं कानून व्यवस्था को प्रभावित करने वाली पोस्टों के संबंध मे देहरादून पुलिस द्वारा मात्र 3 अभियोग पंजीकृत किए गए तो दूसरी ओर हरिद्वार पुलिस द्वारा मात्र दो अभियोग पंजीकृत किए गए। उन्होंने इस बात का भी अपने पत्र में उल्लेख किया कि बाकी पांच जनपदों द्वारा सोशल मीडिया पर राष्ट्र विरोधी पोस्ट डालने वालों के खिलाफ कोई अभियोग पंजीकृत नहीं किया गया।

आईजी ने अपने पत्र में इस बात का उल्लेख किया कि पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी पत्र दिनांक 6 अगस्त 2021 द्वारा सोशल मीडिया सैल के संचालन के लिए जारी एसओपी के अनुरूप प्रभावी कार्रवाई सोशल मीडिया पर पोस्ट होने वाली राष्ट्र विरोधी आदि पर कार्रवाई करें। एडीजी और आईजी द्वारा अपने पत्रों के माध्यम से सोशल मीडिया पर फेक न्यूज प्रसारित करने और राष्ट्रविरोधी पोस्ट डालने वाले मीडियाकर्मियों पर कार्रवाई करने के लिए उल्लेख और नाराजगी के बाद अब रेंज के सभी सातों जनपदों के कप्तानों ने अपने-अपने अधीनस्थों को उक्त पत्रों के अनुरूप कार्रवाई करने के आदेश दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here