संगीत सोम ने लगाए संजीव बालियान पर आरोप, तो अमित शाह को लिख दी चिट्ठी

पूर्व विधायक संगीत सोम ने संजीव बालियान पर विदेशों में जमीनों की खरीद-फरोख्त का गंभीर आरोप लगाया था, तो  संजीव बालियान ने लिख डाली अमित शाह को चिट्ठी।

नई दिल्ली, (शाह टाइम्स)। लोकसभा चुनाव 2024 में बीजेपी को बड़ी हार का सामना करना पड़ा हैं। चुनाव परिणाम में BJP का  प्रदर्शन वैसा नहीं रहा, जैसा पार्टी के नेता नतीजे आने से पहले दावा कर रहे थे। आपको बता दें कि सबसे खराब प्रदर्शन बीजेपी का यूपी में ही रहा हैं। हालांकि, अब पार्टी के अंदर ही आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो चुका हैं। बीजेपी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने गृह मंत्री अमित शाह को चिट्ठी लिखी है। उन्होंने अपने खिलाफ लगाए गए आरोपों की सीबीआई जांच की मांग की है।

जानते हैं पूरा मामला?

दरअसल, संगीत सोम ने संजीव बालियान पर विदेशों (आस्ट्रेलिया) में जमीनों की खरीद-फरोख्त का गंभीर आरोप लगाया था। जिसके चलते पूर्व केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने बीजेपी के पूर्व विधायक संगीत सोम के लगाए आरोपों का जिक्र करते हुए निष्पक्ष जांच की मांग की है। साथ ही उन्होंने इन आरोपों के पीछे छिपे षडयंत्रकारियों का चेहरा भी बेनकाब करने की बात कही है।

संजीव बालियान ने गृह मंत्री शाह को लिखी चिट्टी

सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को लिखी चिट्ठी में संजीव बालियान ने लिखा, ”नरेंद्र मोदी जी लगातार तीसरी बार विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री चुने जाने पर आपको हार्दिक बधाई। यह विजय प्रधानमंत्री के आदर्शों एवं सांस्कृतिक व सामाजिक मूल्यों के प्रति उनकी सत्यनिष्ठा, देश को विश्व में सर्वोच्च स्थान पर ले जाने हेतू उनकी कर्तव्यनिष्ठा, शोषित वर्गो व माताओं-बहनों के उत्थान के प्रति उनके निरंतर प्रयासों एवं युवाओं के स्वर्णिम भविष्य के प्रति उनके समर्पण की ही परिचायक है। विकास की इस महायात्रा में आपके साथ चलने का सौभाग्य मुझे भी मिला, इसके लिए मैं सदैव ऋणी व आभारी रहूंगा।”

मुजफ्फरनगर के विकास पर दिया जोर

उन्होंने चिट्ठी में आगे लिखा, ”जैसा कि आपको विदित ही है कि मैं विगत 10 वर्षों से पश्चिम उत्तर प्रदेश के उस मुजफ्फरनगर क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करता आया हूं। जहां पर साल 2014 से पूर्व अपहरण, लूट, फिरौती, रंगदारी, हत्या आदि की खबरों से समाचार पत्र रंगे रहते थे। जहां मेरठ से रूड़की के बीच शाम के समय के बाद यात्रियों को अपने वाहन को रोकने में भी डर लगता था। वहां प्रधानमंत्री के विकास के मंत्र ने मुझे उस भययुक्त मुजफ्फरगनर को विकास की ओर ले जाने की प्रेरणा दी।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here