Tuesday, October 3, 2023
HomeStateMaharashtraआरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज गंभीर 

आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज गंभीर 

Published on

एकनाथ शिंदे सरकार ने अपना वादा नहीं निभाया, इसलिए मराठा क्रांति मोर्चा ने आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन शुरू किया, लेकिन उनके विरोध को बल प्रयोग कर कुचलने का प्रयास किया गया

जालना  । राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार ने शनिवार को मराठा प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज की कथित घटना को गंभीर बताया और दावा किया कि प्रदर्शनकारियों ने उन्हें बताया कि स्थानीय पुलिस ने मुबंई पुलिस से फोन आने के बाद उन पर लाठीचार्ज किया ।

 पवार जिले के अंतरवली सरवती गांव में पुलिस द्वारा लाठीचार्ज में घायल हुए प्रदर्शनकारियों से मिलने के बाद आज शाम यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि एकनाथ शिंदे सरकार ने अपना वादा नहीं निभाया, इसलिए मराठा क्रांति मोर्चा ने आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन शुरू किया, लेकिन उनके विरोध को बल प्रयोग कर कुचलने का प्रयास किया गया।

उन्होंने आरोप लगाया ”पुलिस ने हवाई फायरिंग की और प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया। प्रदर्शन स्थल पर बड़ी संख्या में पुलिस पहुंची। एक पक्ष ने बातचीत जारी रखी, जबकि दूसरे पक्ष ने उन पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया।” बच्चों और बुजुर्गों पर लाठीचार्ज किया गया।

उन्होंने कहा कि घायल प्रदर्शनकारियों ने बताया कि हमारी चर्चा चल रही थी, अधिकारी बात कर रहे थे और ऐसा लग रहा था कि रास्ता साफ हो जाएगा। लेकिन वहां और अधिक पुलिस बल बुलाया गया। सब कुछ ठीक चल रहा था। मुंबई से निर्देश आए और पुलिस अधिकारियों ने अपना रवैया बदल दिया और बल प्रयोग करना शुरू कर दिया और हवा में गोलियां चलाईं और छोटे छर्रों का इस्तेमाल किया।” उन्होंने बताया कि जब चर्चा चल रही थी तो ऐसे बल का प्रयोग करना गलत था।

श्री पवार ने कहा कि घटना गंभीर है और यह जालना जिले तक सीमित नहीं रहेगी। उन्होंने कहा, ”इसलिए, मैंने और प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल ने आज घटनास्थल पर आने का फैसला किया।” राकांपा प्रमुख ने प्रदर्शनकारियों को शांतिपूर्वक अपना विरोध जारी रखने की सलाह दी।

उन्होंने कहा कि इंडिया ब्लॉक की बैठक में मराठा आरक्षण और जाति-वार जनगणना के मुद्दों पर भी चर्चा की गई।

कोल्हापुर से एक रिपोर्ट में कहा गया है कि छत्रपति शाहू महाराज ने भी इसी तरह की भावना व्यक्त की और कहा कि यह लाठीचार्ज इंडिया ब्लॉक की बैठक से मीडिया सहित सभी का ध्यान भटकाने के लिए किया गया था।

उन्होंने कहा कि जब प्रदर्शनकारी शांतिपूर्वक अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे तो अचानक ऐसा क्या हुआ कि उन पर लाठीचार्ज करना पड़ा और उन्हें हटाने की कार्रवाई की गई, जो उचित नहीं था।

शाहू महाराज ने इस घटना की जांच की मांग की और सरकार से इस मुद्दे पर स्पष्टीकरण मांगा।

इस बीच, जालना से एक रिपोर्ट में कहा गया है कि जिले के अंतरवाली सरवती गांव में विरोध स्थल पर गए श्री पवार के काफिले में एक पुलिस वाहन में तोड़फोड़ की गई।

रिपोर्ट के अनुसार जब राकांपा सुप्रीमो का काफिला अंबाद तालुका में अंतरवाली सरवती जा रहा था, तो सुरक्षा के लिए औरंगाबाद ग्रामीण पुलिस की एक टीम उनके साथ थी। उस समय, कुछ अज्ञात लोगों ने कथित तौर पर पुलिस उपाधीक्षक के वाहन पर पथराव किया और कार को क्षतिग्रस्त करने की भी कोशिश की। बढ़ती भीड़ को देखते हुए पुलिस खुद बाहर निकल गई और बड़ा हादसा टल गया।

श्री पवार ने माइक्रोब्लॉगिंग साइट एक्स पर आरोप लगाया कि ”महाराष्ट्र में इस समय जो हो रहा है वह तानाशाही है। राज्य सरकार और गृह विभाग को राज्य में शांति बनाए रखने का काम सौंपा गया है, लेकिन गृह मंत्रालय के प्रशासकों ने मराठा प्रदर्शनकारियों पर नकेल कसने के लिए पुलिस बल का इस्तेमाल किया है। यह बहुत परेशान करने वाला है।”

उन्होंने कहा, ”जालना में हुई इस अमानवीय घटना के लिए राज्य का गृह मंत्रालय जिम्मेदार है और मैं सार्वजनिक रूप से इस घटना की निंदा करता हूं।”

Latest articles

आज के इतिहास की महत्त्वपूर्ण घटनाए

3 अक्टूबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएं फ्रांसीसी सैनिकों ने 1657 में मैड्रिक पर कब्जा किया।फ्रांस और...

सरकारी अस्पताल में दवाइयों की कमी से 24 की मौत

कांग्रेस ने बीजेपी को ठहराया जिम्मेदार सरकारी अस्पताल में दवाइयों की कमी से 12...

Latest Update

आज के इतिहास की महत्त्वपूर्ण घटनाए

3 अक्टूबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएं फ्रांसीसी सैनिकों ने 1657 में मैड्रिक पर कब्जा किया।फ्रांस और...

सरकारी अस्पताल में दवाइयों की कमी से 24 की मौत

कांग्रेस ने बीजेपी को ठहराया जिम्मेदार सरकारी अस्पताल में दवाइयों की कमी से 12...

Nobel Prize 2023: मेडिसिन का नोबेल प्राइज कोविड की वैक्सीन बनाने वालो को

नोबेल प्राइज (nobel prize) के अंतर्गत 1.1 करोड़ स्वीडिश क्रोनर (10 लाख डॉलर) नकद...

धामी ने की शहीद स्मारक को उत्तराखंड का मूल संस्कृति केंद्र बनाने की घोषणा

रिपोर्ट नदीम सिद्दीकी मुजफ्फरनगर। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) ने रामपुर...

चंद्रबाबू नायडू ने महात्मा गांधी जयंती पर जेल में रखा उपवास

विजयवाड़ा । तेलुगू देशम पार्टी (TDP) प्रमुख एवं आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के पूर्व...

समाजवादी छात्र सभा ने कहा केंद्र में बनेगी इंडिया एलायंस की सरकार

जौनपुर । समाजवादी छात्र सभा (Samajwadi Students' Assembly) के राष्ट्रीय अध्यक्ष इंजीनियर विनीत कुशवाहा...

अफवाह से सांप्रदायिक तनाव, निषेधाज्ञा लागू

ईद मिलाद जुलूस पर हमले की अफवाह से गुस्साई भीड़ ने कथित तौर पर...

केंद्र सरकार देशव्यापी जातीय सर्वे कराए

नई दिल्ली। जनता दल (Janata Dal) ने बिहार (Bihar) में ‘जाति आधारित सर्वे’ (caste...

बघिर कल्याण संस्था हापुड़ ने मनाया संस्था का 11 वां स्थापना दिवस

गांधी जयंती पर दी बापू को श्रद्धांजलि पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को भी उनकी...