सीसीटीवी फुटेज विवेचना में सम्मिलित न करने वाले दरोगा को एसपी सिटी ने दी क्लीन चिट

 

प्रेम नगर थाने में 2018 में दर्ज कराया गया था तेजिंदर सिंह द्वारा मुकदमा इतने सरकारी वकील पर भी पद का दुरुपयोग करने के लगाया आरोप

देहरादून, मयूर गुप्ता (Shah Times ) l करीब 6 वर्ष पूर्व प्रेम नगर थाने में राजेंद्र सिंह पुत्र हरभजन सिंह निवासी विंग नंबर 6 प्रेम नगर ने थाने पर अपने पड़ोसी जरमीत कालड़ा रंजीत उर्फ राजू कालड़ा और उसके रिश्तेदार जज्जी निवासी गुरु नानक एनक्लेव के खिलाफ मारपीट करने की धारा 323 504 506 के तहत अभियोग पंजीकृत कराया था l

प्रेम नगर पुलिस द्वारा  मारपीट के प्रकरण में आरोप सिद्ध हो जाने के बाद आरोपियों के खिलाफ संबंधित न्यायालय में आरोप पत्र दाखिल कर दिया था न्यायालय द्वारा जब पीड़ित पक्ष को संबंध भेज कर न्यायालय में उपस्थित होने के आदेश दिए गए तो जानकारी मिली कि विवेचन उप निरीक्षक कोमल सिंह रावत द्वारा पीड़ित की ओर से मौके पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई मारपीट की पूरी घटना की वीडियो जो कि विवेचक को उपलब्ध कराई गई थी उनके द्वारा विवेचना में सम्मिलित नहीं की गईl

जब पूरे प्रकरण की जानकारी वादी को हुई तो उसने इसकी शिकायत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से लिखित रूम में की तो उन्होंने प्रकरण की सत्य तक जाने के लिए पुलिस अधीक्षक नगर प्रमोद कुमार को जांच करने के आदेश दिए जांच के दौरान पीड़ित को भी एसपी सिटी कार्यालय में अपने बयान देने के लिए बुलाया गया तो पीड़ित ने बताया कि न्यायालय में दाखिल आरोप पत्र के बाद भी सरकारी वकील द्वारा आरोपियों से मिलीभगत कर तथा अपने पद का दुरुपयोग करते हुए उसके बयान न्यायालय में पूरे अंकित नहीं करवाए गए तथा साक्षी को भी पत्रावली में सम्मिलित नहीं किया गयाl

पुलिस अधीक्षक नगर कार्यालय में दिए गए अपने बयान में पीड़ित राजेंद्र सिंह ने आरोप लगाया कि उसके अधूरे बयान अंकित के जाने के बाद सरकारी वकील ने न्यायालय को यह लिखकर दे दिया कि अब किसी के प्यार की आवश्यकता नहीं है और नमुकदमा मुकदमा चलने योग्य नहीं है पीड़ित ने अभियोजन पक्ष द्वारा अपने पति का दुरुपयोग करने जैसे महत्वपूर्ण आप सरकारी वकील पर भी लगाए हैl

दूसरी ओर विवेचन उप निरीक्षक को कमल सिंह रावत जो कि वर्तमान में बसंत विहार थाने पर है उप निरीक्षक कोमल सिंह रावत ने जांच अधिकारी के समक्ष स्वीकार किया कि कि वादी तेजिंदर सिंह द्वारा मुकदमे से संबंधित जो सीसीटीवी फुटेज उन्हें सौंप गई थी वह उन्होंने विवेचना में सम्मिलित करते हुए माल खाने में दाखिल कर दी थी विवेचक ने अपने ऊपर लगाए गए आप सत्य में निराधार बताए हैं l

मामले की जांच कर रहे पुलिस अधीक्षक एन करनी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून अजय सिंह को अपनी जांच रिपोर्ट पेश करते हुए वादी द्वारा विवेचक कोमल सिंह रावत पर लगाए गए आरोपी को पूरी तरह से निराधार बताते हुए आरोपी की पुष्टि नहीं होने की बात कह कर जांच रिपोर्ट उन्हें प्रेषित कर दीl

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here