टीएचडीसीआईएल को विद्युत क्षेत्र में “जीईईएफ ग्‍लोबल इंवायरमेंट अवार्ड-2024” से सम्मानित किया गया 

ऋषिकेश,(Shah Times)। आर. के. विश्‍नोई, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, टीएचडीसीआईएल ने अवगत कराया कि टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड को विद्युत क्षेत्र में गोल्‍ड कैटेगरी का प्रतिष्ठित “जीईईएफ ग्‍लोबल इंवायरमेंट अवार्ड- 2024” प्रदान किया गया।

 विश्‍नोई ने कहा कि टीएचडीसीआईएल विद्युत क्षेत्र में निरंतर नए कीर्तिमान स्थापित कर रहा है और इस पुरस्कार की प्राप्ति टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड द्वारा किफायती विद्युत प्रदान करने एवं पर्यावरणीय दुष्‍परिणाम के समाधान के लिए व्यावसायिकता और संवेदनशीलता के प्रदर्शन का प्रमाण है। यह पुरस्कार समारोह 20 मार्च, 2024 को जेडब्ल्यू मैरियट एयरोसिटी, नई दिल्ली में वैश्विक स्वच्छ ऊर्जा शिखर सम्मेलन-2024 और वैश्विक पर्यावरण – सुरक्षा पुरस्कार- 2024 के दौरान आयोजित किया गया । 

 विश्नोई ने कहा कि इस वार्षिक पुरस्कार में टीएचडीसीआईएल की उपलब्धि विद्युत क्षेत्र में पर्यावरणीय सततता एवं नवाचार में उसके उत्‍कृष्‍ट योगदान को प्रदर्शित करती है। टीएचडीसीआईएल विद्युत क्षेत्र में उत्कृष्टता के प्रतीक के रूप में अपना स्‍थान बनाए हुए है, जो पर्यावरणीय प्रबंधन के प्रति प्रतिबद्धता और विद्युत के सतत उत्‍पादन के लिए एक सामंजस्यपूर्ण सहयोग का प्रदर्शन करता है।

 विश्नोई ने आगे अवगत कराया कि कंपनी की बहुमुखी पहल, सामुदायिक जुड़ाव और बुनियादी मूल्यों के अनुपालन ने ग्लोबल अवार्ड- 2024 के लिए टीएचडीसीआईएल को एक उत्कृष्ट दावेदार के रूप में स्‍थापित किया ।

 शैलेंद्र सिंह निदेशक (कार्मिक), टीएचडीसीआईएल ने निगम के सभी कर्मचारियों को हार्दिक बधाई देते हुए कहा कि यह उपलब्धि विश्वसनीय और किफायती विद्युत स्रोतों को विकसित करने के अपने प्रयास में टीएचडीसीआईएल द्वारा पर्यावरणीय संवेदनशीलता के साथ निरंतर उत्‍कृष्‍ट प्रदर्शन का परिणाम है।  टीएचडीसीआईएल का अनुकरणीय योगदान और उपलब्धियाँ हमें इस प्रतिष्ठित सम्मान के योग्य प्राप्तकर्ता के रूप में स्थापित करती हैं। श्री शैलेंद्र सिंह ने आगे कहा कि आंतरिक जागरूकता कार्यक्रमों से लेकर वैश्विक सहयोग तक संगठन का समग्र दृष्टिकोण एक निश्चित सतत एवं सुनहरे भविष्य के प्रति इसकी प्रतिबद्धता को सुदृढ बनाता है।

इस अवसर पर, टीएचडीसीआईएल की ओर से महाप्रबंधक (सामाजिक एवं पर्यावरण), श्री अमरदीप ने यह पुरस्कार प्राप्त किया। कार्यक्रम के दौरान, लोक नायकों, टीमों, इकाइयों, परियोजनाओं और संगठनों को उनके असाधारण योगदान, प्रतिबद्धता, व्यावसायिकता और कार्यों के लिए सम्मानित किया गया, जो नवोन्मेषी प्रौद्योगिकियों और सतत पर्यावरणीय विकास पर ध्यान केंद्रित करते हुए सकारात्‍मक सहयोग से समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए प्रयासरत हैं।  

टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड, विद्युत क्षेत्र का अग्रणी एवं लाभ अर्जित करने वाला सार्वजनिक उपक्रम है, जिसे जल विद्युत, सौर, पवन और तापीय विद्यत स्रोतों के दोहन में विशेषज्ञता हासिल है। टीएचडीसीआईएल की वर्तमान संस्‍थापित क्षमता 1587 मेगावाट है, जिसमें उत्तराखंड में टिहरी बांध और एचपीपी (1000 मेगावाट), कोटेश्वर एचईपी (400 मेगावाट), गुजरात के पाटन में 50 मेगावाट तथा द्वारका में 63 मेगावाट के पवन ऊर्जा परियोजना, उत्‍तर प्रदेश के झांसी में 24 मेगावाट की ढुकवां लघु जल विद्युत परियोजना एवं केरल के कासरगोड में 50 मेगावाट की सौर विद्युत परियोजना की सफलतापूर्वक कमीशनिंग को इसका श्रेय जाता है। 

इसके अतिरिक्‍त, यह भी उल्लेखनीय है कि टीएचडीसीआईएल की मध्‍य प्रदेश के सिंगरौली में स्‍थित अमेलिया कोयला खदानें प्रचालन में हैं। टीएचडीसीआईएल उत्कृष्टता, सततता और सामुदायिक विकास के प्रति प्रतिबद्धता के साथ, भारत के विद्युत परिदृश्य में महत्वपूर्ण योगदान हेतु प्रयासरत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here