‘इंपार’ ने की फ्रांस में हिंसा की निंदा

इंडियन मुस्लिम फॉर प्रोग्रेस एंड रिफॉर्म्स यानी ‘इंपार’ ने पेरिस में नाहेल नामक 17 वर्षीय किशोर की दुखद हत्या की कड़े शब्दों में निंदा की

नई दिल्ली। इंडियन मुस्लिम फॉर प्रोग्रेस एंड रिफॉर्म्स यानी ‘इंपार’ ने पेरिस में नाहेल नामक 17 वर्षीय किशोर की दुखद हत्या की कड़े शब्दों में निंदा की है। इंपार ने कहा है कि इस मुद्दे पर वह वैश्विक समुदाय के साथ एकजुटता से खड़ा है। ‘इंपार’ ने कहा है कि वह इस घटना के बाद बड़े पैमाने पर हुए दंगों से प्रभावित हुए सभी लोगों के प्रति अपनी सहानुभूति व्यक्त करता है। इस राष्ट्रवयापी आगजनी में फ्रांस में एक जटिल नस्लीय और गहरी जड़ वाली समस्या एक बार फिर से उभर आई है।

बुधवार को बार के अध्यक्ष डॉ एमजे खान ने बाकायदा एक बयान जारी करके फ्रांस (France) में हो रही व्यापक हिंसा की निंदा की। बयान में कहा गया है कि हम नाहेल की हत्या पर व्यक्तियों और समुदायों की तरफ से महसूस की गई पीड़ा को समझते हैं। हम विरोध के शांतिपूर्ण और रचनात्मक तरीकों के महत्व पर जोर देना चाहेंगे। इस हत्या के बाद फ्रांस में हुई हिंसा और दंगों को किसी भी तरह उचित नहीं ठहराया जा सकता। इसके बाद जो भी कुछ हुआ है वह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण, चिंताजनक और निंदनीय है।

बयान में आगे कहा गया है कि अहिंसा का विरोध प्रदर्शन सामाजिक परिवर्तन आवश्यक चर्चा लाने और जागरूकता बढ़ाने के लिए सदैव प्रभावी उपकरण होता है। हम और फ्रांस के सभी लोगों और संगठनों से संयम बरतने और यह सुनिश्चित करने का आग्रह करते हैं कि उनका विरोध अहिंसक सम्मानजनक और कानूनी सीमा के भीतर रहे। इंपार दंगों की निंदा करता है और विश्व समुदाय से पूरे फ्रांस में व्यापक हिंसा की कड़ी निंदा करने का भी आह्वान करता है।

दैनिक शाह टाइम्स के ई-पेपर पढने के लिए लिंक पर क्लिक करें

‘इंपार’ के बयान में कहा गया है कि हम अधिकारियों से विरोध प्रदर्शनों पर अपनी प्रतिक्रिया में संयम और अनुपात एकता बरतने का भी आह्वान करते हैं। पुलिस की तरफ से अधिक बल का प्रयोग अक्सर कई निर्दोष व्यक्तियों और अधिकारों का उल्लंघन करता है जो शांतिपूर्वक अपनी शिकायतें व्यक्त करते हैं। विश्वास को बढ़ावा देने और एक सामानजस्मपूर्ण समाज बनाने के लिए एक संतुलित दृष्टिकोण की आवश्यकता होती है जो सार्वजनिक सुरक्षा को बनाए रखते हुए अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के बुनियादी सिद्धांतों को कायम रखता है।

‘इंपार’ भारतीय मुसलमानों के बीच प्रगति और सुधार के लिए काम करने वाला संगठन है। इस बयान में उसने अपने अंतर-धार्मिक सद्भाव को बढ़ावा देने के प्रति समर्पण और ऐसी हिंसा के मूल कारणों को संबोधित करने के लिए सभी हित धारकों के साथ मिलकर काम करने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराया है। इंपार ने विश्वास जताया है कि हम ऐसे भविष्य का निर्माण कर सकते हैं जिसमें हिंसा के लिए कोई जगह नहीं होगी और समाज खुले संचार आपसी सम्मान और समझ के माध्यम से शांति और सद्भाव के साथ से अस्तित्व में रह सकेगा।

#ShahTimes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here