UP Police : डिप्टी एसपी को बनाया गया सिपाही, कड़ी मेहनत से बनते है DSP.. छिड़ी बहस

उत्तर प्रदेश पुलिस में डिप्टी एसपी को फिर से कांस्टेबल बना दिया गया है। दरअसल, डिप्टी एसपी को उनकी मूल नियुक्ति वाले पद यानी कांस्टेबल पर वापस भेज दिया गया। रिटायरमेंट से 1 साल पहले इतनी कड़ी सजा दिए जाने की खूब चर्चा हो रही है।

Lucknow, (Shah Times) । उत्तर प्रदेश पुलिस में एक डिप्टी एसपी को दोबारा सिपाही बनाया गया है। दरअसल डिप्टी एसपी को उसकी नियुक्ति के मूल पद सिपाही पर रिवर्ट कर दिया गया। रिटायरमेंट से 1 साल पहले ऐसी सख्त सजा को लेकर के चर्चा जोरों पर हैं।

आपको बता दें कि बीघापुर थाने में DSP रहे कृपाशंकर कनौजिया को डिमोट कर सिपाही बना दिया गया है। 59 साल के कनौजिया अगले साल रिटायर होने वाले हैं।

रिटायरमेंट से केवल 1 साल पहले डिप्टी SP लेवल के अफसर के खिलाफ ऐसे सख्‍त फैसले को लेकर चर्चा शुरू हो गई।

सजा अपराध को देखते हुए मिलनी चाहिए

लोगों का कहना हैं कि क्‍या अनुशासनहीनता करने पर किसी पुलिस अफसर को इस हद तक सजा दी जा सकती है। कई रिटायर्ड पुलिस अफसरों का तो यहां तक कहना है कि सजा अपराध को देखते हुए मिलनी चाहिए। बहुत कम सिपाही ऐसे होते हैं जो अपने दशकों के करियर में कड़ी मेहनत के बल पर DSP जैसे पद तक पहुंचते हैं। रिटायर्ड अफसरों ने अपील की है कि ऐसे कड़े फैसले दुर्लभतम मामलों में ही लिए जाने चाहिए।

नियम 1999 के तहत लिया गया है फैसला

एक अन्‍य पुलिस अफसर ने बताया कि कनौजिया के खिलाफ कार्रवाई यूपी सरकार के सेवक (अनुशासन और अपील) नियम 1999 के तहत की गई है, जो पहले पद पर वापसी की अनुमति देता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here