धार्मावाला के जंगलों में पुलिस और यूपी के बदमाशों के बीच मुठभेड़

Oplus_131072

पुलिस की पैर में गोली लगने से एक बदमाश घायल, एक गिरफ्तार

आठ दिन पूर्व खुशहालपुर गांव में फ़ुरकान के मकान में डाली थी डकैती

गोली लगने से घायल बदमाश का है लम्बा चौड़ा आपराधिक इतिहास

देहरादून/सहसपुर( शाह टाइम्स) । करीब आठ दिन पूर्व ग्राम खुशहालपुर निवासी फ़ुरकान के मकान पर धाावा बोलकर परिजनों को हथियारों की नोक पर बंधाक बनाकर डकैती डालने के मुख्य आरोपी के साथ शुक्रवार की प्रातः मुठभेड़ हो गई। तिमली धार्मावाला के जंगल में दोनों ओर से हुई फ़ायरिंग में एक बदमाश के पैर में गोली लग जाने से वह घायल हो गया जबकि दूसरे बदमाश को पुलिस ने पकड़ लिया। पुलिस और बदमाशों के बीच हुई गोली-बारी में एक बदमाश के घायल हो जाने की खबर के बाद एसएसपी ने प्रातःकाल ही घटनास्थल का दौरान किया और पुलिस का मनोबल बढ़ाया।

गौरतलब है कि सहसपुर थाना क्षेत्र के गांव खुशहालपुर निवासी फ़ुरकान पुत्र स्व- जिंदा हसन के मकान पर हथियार बंद पांच बदमाशों ने 6 जून की रात्रि धावा बोलकर मकान पर मौजूद फ़ुरकान के सभी परिजनों को हथियारों की नोक पर बंधाक बनाकर करीब सत्तर हजार रुपये की नगदी, लाखों के जेवरात और मकान पर खड़ी स्कूटी को अपने कब्जे में कर डकैतों ने वहां पर डकैती डाली थी और जमकर उत्पात मचाया था। जिस संबंध में पहले थाना सहसपुर में लूट का और बाद में डकैती का अभियोग पंजीकृत किया गया था। गांव में हुई डकैती की वारदात से पूरे गांव में दहाशत का माहौल व्याप्त हो गया था। 

एसएसपी अजय सिंह ने घटनास्थल का दौरान कर पीड़ित परिवार को शीध्र ही न्याय दिलवाने की बात कही थी।बाद में वरिष्ठ पुलिस अधाीक्षक अजय सिंह ने पुलिस अधाीक्षक देहात लोकजीत सिंह और क्षेत्रधिाकारी विकासनगर भाष्कर लाल शाह  के अलावा प्रभारी निरीक्षक सहसपुर मुकेश त्यागी के साथ अपने कार्यालय में गोपनीय मीटिंग कर पूरे मामले पर से शीध्र ही पर्दा हटाने और डकैती में शामिल डकैतों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए थे। 

इस दौरान पुलिस अधिाकारियों ने मामले की गंभीरता को देखते हुए कई टीमों का गठन कर उन्हे उत्तर प्रदेश के अलावा दिल्ली और अन्य राज्यों की ओर रवाना कर दिया था।वहीं पुलिस टीम ने घटनास्थल और उसके आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाला। अभी पुलिस अधिाकारी ग्राम खुशहालपुर निवासी फ़ुरकान के मकान पर पड़ी डकैती में शामिल डकैतों के संबंधा में जानकारी एक= कर ही रही थी कि सीओ विकासनगर भाष्कर लाल शाह को खबर मिली की डकैती में शामिल बदमाश एक बार फि़र यूटिलिटि गाड़ी से किसी अन्य वारदात को अंजाम देने के लिए आ रहे है। सूचना के बाद कोतवाली प्रभारी निरीक्षक विकासनगर राजेश शाह, प्रभारी निरीक्षक सहसपुर मुकेश त्यागी, सीओ प्रेमनगर और अन्य पुलिस बल ने डकैतों को घेरने का काम किया और दररिट बैरियर के समीप वाहनाें की चैकिंग प्रारंभ कर दी।

शुक्रवार की प्रात अभी पुलिस टीम आने जाने वाले वाहनों की चैकिंग कर ही रही थी कि सहारनपुर की ओर से आ रहे है। इस बीच पुलिस ने एक यूटिलिटी को रोकने का प्रयास किया तो पुलिस बैरियर को तोड़ते हुए वाहन चालक ने उसे पीछे की ओर तेजगति से भगा दिया। पुलिस टीम द्वारा यूटिलिटी का पीछा किया गया तो उक्त वाहन एक पेड़ से टकराकर छतिग्रस्त हो गया। पुलिस टीम ने यूटिलिटि चालक को अपनी हिरासत में ले लिया। अभी पुलिस पकड़े गए बदमाश से पूछताछ कर ही रही थी कि दूसरे बदमाश की ओर से पुलिस पार्टी पर फ़ायर कर दिया गया। पुलिस टीम ने भी बदमाश की ओर फ़ायर झोंक दिए जिससे उक्त बदमाश पैर में गोली लग जाने से जख्मी हो गया।

पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ की खबर मिलते ही मुख्यालय से वरिष्ठ पुलिस अधाीक्षक अजय सिंह पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। इससे पूर्व पुलिस ने पैर में गोली लग जाने से घायल हुए बदमाश को उपचार के लिए नजदीकि अस्पताल में भर्ती करवाया तो एसएसपी भी घायल बदमाश का हालचाल जानने के लिए उक्त अस्पताल पहुंचे। पकड़े गए बदमाश से कोतवाली विकासनगर लाकर पूछताछ की गई तो उसने अपना नाम रमजानी पुत्र इशाक निवासी गंदेवड़ा सहारनपुर उत्तर प्रदेश बताया जबकि पुलिस की गोली लगने से घायल हुए बदमाश का नाम बबलू बादशाह पुत्र नईम निवासी मोहल्ला किदवई नगर जनपद मुजफ्फ़रनगर उत्तर प्रदेश बताया। पुलिस पकड़े गए बदमाश से पूछताछ कर रही है।

फ़ुरकान की पत्नी का मौसेरा भाई है पकड़ा गया बदमाश रमजानी 

 तिम्ली और धार्मावाला के जंगल में शुक्रवार की सुबह पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ के बाद पुलिस के हत्थे चढ़े बदमाश रमजान उर्फ 

रमजानी ऊर्फ जॉनी पुत्र इशाक निवासी ग्राम गंदेवड़ा जनपद सहारनपुर से कड़ाई से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि ग्राम खुशहालपुर निवासी जिस फ़ुरकान के मकान पर उसने अपने साथियों के साथ मिलकर डकैती की वारदात को अंजाम दिया था उस फ़ुरकान की पत्नी गुलशाना का वह मौसेरा भाई है।

 उसनें पूछताछ के दौरान बताया कि करीब दो वर्ष पूर्व फ़ुरकान से किसी बात को लेकर उसका विवाद हो गया था तभी से दोनों परिवारोें के बीच आपसी रंजिश चली आ रही थी। 

पूछताछ के दौरान पकड़े गए डकैत ने बताया कि फ़ुरकान से बदला लेने के लिए ही उसे अपने गांव के नसीम ऊर् छीन्टा से संपर्क कर फ़ुरकान के मकान पर डकैती की योजना को अमली जामा पहनाया था।

 उसने बताया कि छीन्टा ने अपने साथियों बबलू बादशाह, असलम फ़रीद, सलमान और साबिर को भी 

अपने साथ मिलाकर फ़ुरकान के मकान पर डकैती की योजना को तैयार कर लिया था। पूरे प्लान के साथ पांचों यूटिलिटि में बैठकर ग्राम खुशहालपुर पहुंचे और देर रात्रि में फ़ुरकान के मकान पर धाावा बोलकर उसके परिजनों को हथियारों की नोक पर बंधाक बनाकर डकैती की वारदात को अंजाम दिया था और बाद में यूटिलिटी में ही बैैठकर वहां से फ़रार हो गए थे।

उसने बताया कि नसीम की खुशहालपुर गांव में रिश्तेदारी थी जिस कारण से वह अकसर गांव खुशहालपुर में आता जाता रहता था। पकड़े गए बदमाश ने बताया कि नसीम के अलावा चारों ने उसके रिश्तेदार को पुलिस अधिाकारी बताकर उसके मकान पर प्रवेश किया था। पकड़े गए नसीम पर उत्तर प्रदेश के जनपद सहारनपुर में सात से अधिाक अभियोग पंजीकृत है।

मुजफ्फ़रनगर के मोहल्ला किदवई नगर का है गोली लगने से घायल डकैत बबलू

 पुलिस और बदमाशों के बीच शुक्रवार की सुबह गांव तिमली और धार्मावाला के जंगल में हुई मुठभेड़ के बाद दोनों ओर से चली गोली बारी में पुलिस की पैर में गोली लगने से गोली लगने से घायल हुआ डकैत बबलू बादशाह पश्चिम उत्तर प्रदेश के जनपद मुजफ्फ़रनगर के नगर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला किदवई  नगर का निवासी है। 

 वरिष्ठ पुलिस अधाीक्षक अजय सिंह ने बताया कि बबलू पर जनपद सहारनपुर में भी दो अभियोग पंजीकृत है और वह कई बड़ी लूट की वारदातों में भी शामिल रहा है। उन्होंने बताया कि एसएसपी मुजफ्फ़रनगर से बबलू के इतिहास के संबंध में जानकारी की गई है। उन्होंने बताया कि गोली लगने से घायल हुए बबलू बादशाह पर जनपद मुजफ्फ़रनगर में भी लूट और डकैती के कई मामले दर्ज है। एसएसपी ने बताया कि गोली लगने से घायल हुए बबलू बादशाह का साथी फ़रीद ऊर् नजीर पुत्र लतीफ़ निवासी महमूदपुर थाना गागलहेड़ी सहारनपुर हाल निवासी नई बस्ती थाना पिरान कलियर हरिद्वार के खिलाफ़ जनपद हापुड़ में भी हत्या का अभियोग पंजीकृत है और वह उक्त मुकदमे में आजीवन कारावास की सजा से दंडित किया गया था। उन्होंने बताया कि इसके अलावा फ़रीद पर करीब पांच। अभियोग पंजीकृत होने की जानकारी मिली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here