पूर्व मुख्यमंत्री चंपई सोरेन बने मंत्री

झारखंड में हेमंत सोरेन सरकार का विस्तार करते हुए आज 11 नए काबीना मंत्री को शामिल किया गया। 

झारखंड के इतिहास में यह पहली घटना है जब किसी पूर्व मुख्यमंत्री को मंत्री बनाया गया है । वैसे देश के अन्य राज्यों में इस तरह की बातें हो चुकी है।

नई दिल्ली, ( शाह टाइम्स)। हेमंत सोरेन के नेतृत्व वाली झारखंड सरकार ने सोमवार को विधानसभा में फ्लोर टेस्ट पास कर लिया है और आपको बता दें कि अब सोरेन का मंत्रिमंडल का भी विस्तार हो गया है। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री चंपई सोरेन को भी मंत्री बना दिया गया है। लेकिन हेमंत सोरेन के भाई बसंत सोरेन को मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली है। 

झारखंड में हेमंत सोरेन सरकार का विस्तार करते हुए आज 11 नए काबीना मंत्री को शामिल किया गया।

राज्यपाल सी पी राधाकृष्णन ने आज राज भवन के बिरसा मंडप में आयोजित एक सादे समारोह में झारखंड मुक्ति मोर्चा के चंपाई सोरेन, दीपक बरुआ, हफीजुल हसन अंसारी, मिथिलेश कुमार ठाकुर, बेबी देवी, वैद्यनाथ राम, कांग्रेस कोटे से डॉ रामेश्वर उरांव, बन्ना गुप्ता, इरफान अंसारी ,दीपिका पांडे सिंह और राष्ट्रीय जनता दल के सत्यानंद भोक्ता को काबीना मंत्री केपद और गोपनीयता की शपथ दिलाई ।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, सांसद सरफराज अहमद, महुआ मांझी, सुखदेव भगत ,पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय, कांग्रेस के झारखंड प्रभारी गुलाम अहमद मीर समेत राज्य सरकार के वरिष्ठ प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी मौजूद थे।

झारखंड में मुख्यमंत्री समेत 12 मंत्री बनाए जाने का संवैधानिक प्रावधान है और इस बार मुख्यमंत्री समेत 12 मंत्री बनाए गए है। पूर्व मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन को भी इस बार काबीना मंत्री बनाया गया है। 

झारखंड के इतिहास में यह पहली घटना है जब किसी पूर्व मुख्यमंत्री को मंत्री बनाया गया है । वैसे देश के अन्य राज्यों में इस तरह की बातें हो चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here